स्वधात्री इंफ्रा ने किया 156 करोड़ का घोटाला



हैदराबाद। स्थानीय रियल एस्टेट फर्म स्वधात्री इंफ्रा प्रा. लिमिटेड की जालसाजी के शिकार करीब 1500 लोग सामने आ गए हैं। प्लॉट के नाम पर हुई इस बड़ी धोखाधड़ी की जांच जारी है। स्वधात्री इंफ्रा के मालिक यर्लागादू रघु बाबू, निदेशक जी. श्रीनिवास बाबू और मैनेजर मीनाक्षी के अरेस्ट होने के एक दिन बाद ही स्थानीय साइबराबाद थाने में शिकायतकर्ताओं की लाइन लग गई। मामले में पुलिस का कहना है कि करीब 1500 ऐसे लोग सामने आए हैं, जिन्होंने प्लॉट खरीदने के नाम पर कंपनी में पैसा लगाया था।

फिलहाल कंपनी मालिकों से पूछताछ जारी है और बताया जा रहा है कि हैदराबाद और तेलंगाना के लोग इसके शिकार हुए हैं। कुछ मामले यहां के विजयवाड़ा से भी सामने आए हैं। इधर शिकार हुए लोगों का लगातार पुलिस से संपर्क जारी है। स्थानीय पुलिस अब तक इस मामले को कुल 156 करोड़ का घोटाला मान रही है, लेकिन तफदीश जारी है। पुलिस का कहना है कि असल में घोटाला कितना बड़ा है, यह पता जांच के बाद ही पूरी तरह से चल पाएगा। साथ ही निवेशकों की संख्या और उनकी शिकायतों में निवेश की गई रकम के आंकलन से आने वाले कुछ दिनों में क्लीयर हो जाएगा कि कंपनी ने कुल मिलकाकर कितने करोड़ का फ्रॉड किया है। प्लॉट में निवेश पर बेहतरीन रिटन्र्स दावा करने वाली इस फ्रॉड कंपनी की वेबसाइट पर सभी सामग्री फिलहाल साइबराबाद पुलिस ने ब्लॉक कर दी हैं। हैदराबाद से मिली जानकारी के मुताबिक कंपनी ने जमीने खरीदीं, ग्राहकों से पैसा उगा लिया और विकास और अलॉटमेंट के नाम पर फ्रॉड करके ग्राहकों के साथ जालसाजी करने लगे। जब मामले पुलिस के पास जाने लगे, तो पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए सक्रियता दिखाई।
Share on Google Plus

About JDA Approved

0 comments:

Post a Comment