जेडीए की सांस फूली, नई योजना में आवेदकों का टोटा


जयपुर। जयपुर विकास प्राधिकरण की ओर से मुख्यमंत्री जन आवास योजना पर काम जारी है। हाल ही जेडीए ने 1488 फ्लैट बनाने की योजना खोली, जिसे मुख्यमंत्री जन आवास योजना-2015 के तहत आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए लॉन्च किया गया, लेकिन कोरोना में आई मंदी की मार ने इस योजना की हवा निकाल दी है। कल यानी 14 जुलाई इसमें आवेदन की अंतिम तारीख है, लेकिन जेडीए के सूत्रों के मुताबिक योजना में पर्याप्त आवेदन नहीं आए हैं।

इस योजनांतर्गत अजमेर रोड, वाटिका रोड और गोनेर रोड पर बनने वाली योजनाओं में कुल 1488 फ्लैट्स बनाए जाने प्रस्तावति हैं, लेकिन आवेदन को लेकर जनता की बेरुखी जेडीए पर भारी पड़ रही है। बीते सप्ताह 2 जुलाई तक इस योजना में कुल 325 लोगों ने ही आवेदन किया था, जो आंकडा कुल फ्लैट्स के 30 प्रतिशत को भी नहीं छू पाया था। गौरतलब है कि जेडीए की ओर से स्पष्ट किया जा चुका है कि इस प्रस्तावित योजना में जी-2 पैटर्न पर फ्लैट्स का निर्माण करवाया जाएगा, जिसमें दो कमरे, रसोई, बाथरूम, टॉयलेट जैसी बेसिक सुविधाएं दी जाएंगी और एक दुपहिया वाहन की पार्किंग भी मिलेगी। फ्लैट की कीमत 7.50 लाख रखी गई है और सब्सिडी पात्रतानुसान उपलब्ध करवाई जाएगी। अब देखना यह होगा कि कोरोनाकाल में जहां निजी बिल्डर्स और कॉलोनाइजर्स की सांस फूल चुकी है, वहीं जेडीए इस योजना को अमलीजामा पहनाने में कितना कामयाब हो पाता है। 
Share on Google Plus

About JDA Approved

0 comments:

Post a Comment