प्रॉपर्टी कारोबार में JDA Approved लिखा, तो होगी कानूनी कार्रवाई

जयपुर। देश के बिल्डर, कॉलोनाइजर और प्रॉपर्टी कारोबारी अब अपने प्रोजेक्ट्स के प्रचार-प्रसार, अखबारी विज्ञापन, पंफलेट, ब्रोशर, ऑनलाइन प्रमोशन, इंटरनेट पर किए गए विज्ञापन, सोशल मीडिया प्रमोशन जैसी तमाम आवश्यक-अनावश्यक जगह JDA Approved नहीं लिख पाएंगे। न ही देश का कोई भी छोटा या बड़ा रियल एस्टेट कारोबारी, रियल एस्टेट एजेंट आदि JDA Approved का इस्तेमाल कर पाएंगे। ऐसा करते हुए पाए जाने पर अब उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है। 

मुख्य तौर पर JDA Approved का इस्तेमाल देश में फिलहाल जयपुर, जोधपुर, झांसी, जमशेदपुर, जम्मू, जलन्धर आदि कई शहरों में किया जा रहा है। JDA Approved के लीगल राइट्स जयपुर के वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण जाखड़ ने सुरक्षित कर लिए हैं। भारत सरकार के ट्रेडमार्क रजिस्ट्रार की ओर से व्यापार चिन्ह अधिनियम 1999 के अंतर्गत JDA Approved के संपूर्ण अधिकार इसी महीने प्रवीण जाखड़ को दे दिए गए हैं। इस संबंध में प्रवीण जाखड़ ने बताया कि उपरोक्त ट्रेडमार्क का बिना अनुमति लिए इस्तेमाल करते हुए कोई भी बिल्डर, कॉलोनाइर, रियल एस्टेट एजेंट या कोई अन्य पाया जाता है, तो उसके खिलाफ एक्ट के नियमानुसार कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही इस सबंध में एक टीम उपरोक्त ट्रेडमार्क के चोरी-छिपे किए गए इस्तेमाल की जानकारी जुटाएगी और ऐसे अवैध इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया जाएगा।

इस ट्रेडमार्क के इस्तेमाल को लेकर जाखड़ ने बताया कि कोई भी बिल्डर, कॉलोनाइजर, प्रॉपर्टी कारोबारी या अन्य संस्था अथवा व्यक्ति JDA Approved का इस्तेमाल करना चाहता है, तो उसे JDAApproved.com से इसकी नियमानुसार लिखित अनुमति लेनी होगी। लिखित अनुमति के बाद ही वह इसका आंशिक अथवा पूर्ण लिखित व अन्य उपयोग कर पाएंगे।

Share on Google Plus

About JDA Approved

0 comments:

Post a Comment